Jharkhand: छात्रा की जबरन ड्रेस उतारने के मामले में शिक्षिका पर हुई कार्रवाई, पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज

Welcome to Kalam Kartvya - पीटीआई, जमशेदपुर Published by: Jeet Kumar Updated Sun, 16 Oct 2022 04:23 AM IST सार शिक्षिक को शुक्रवार रात आईपीसी धारा, पॉक्सो एक्ट और किशोर न्याय अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया। वहीं  प्रधानाचार्य ने दावा किया कि लड़की परीक्षा में नकल करते हुए पकड़ी गई थी प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : Pixabay विज्ञापन ख़बर सुनें विस्तार झारखंड में स्कूल छात्रा को ड्रेस उतारने के लिए मजबूर करने वाली शिक्षिका को गिरफ्तार किया गया है। शुक्रवार को कक्षा में अपमान के बाद छात्रा ने खुद को आग लगा ली थी। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पूर्वी सिंहभूम जिला प्रशासन ने घटना की जांच के लिए सदस्यीय समिति का गठन किया है। '; if(typeof is_mobile !='undefined' && is_mobile()){ googletag.cmd.push(function() { googletag.display('div-gpt-ad-1514643645465-2'); }); } elImageAd.innerHTML = innerHTML; elImageAd.className ='ad-mb-app width320 hgt270 mt-10 for_premium_user_remove pwa_for_remove'; } if(showVideoAd == true){ let elImageAd = document.getElementById("showVideoAd"); elImageAd.innerHTML = 'Trending Videos'; anyviewAd(); elImageAd.className ='clearfix ad-mb-app mt-10 for_premium_user_remove pwa_for_remove'; } function anyviewAd(){ let scriptEle = document.createElement("script"); let elImageAd = document.getElementById("showVideoAd"); scriptEle.setAttribute("src", "https://tg1.aniview.com/api/adserver/spt?AV_TAGID=631f2083311a510081136005&AV_PUBLISHERID=62d66949dc3de81859122a54"); scriptEle.setAttribute("type", "text/javascript"); scriptEle.setAttribute("async", "async"); scriptEle.setAttribute("data-content.cms-type","playlist"); scriptEle.setAttribute("data-content.cms-id","63201c80e4c07cb236059cd2"); scriptEle.setAttribute("id","AV631f2083311a510081136005"); elImageAd.appendChild(scriptEle); } लड़की ने पुलिस को दिए एक बयान में कहा कि शिक्षिका ने उसे अपमानित किया और कक्षा के पास एक कमरे में कपड़े उतारने के लिए कहा। पुलिस के अनुसार शिक्षिका ने परीक्षा के दौरान छात्रा की वर्दी में नकल सामग्री छिपाने का संदेह व्यक्त किया था। वहीं छात्रा ने शिक्षिका से कपड़े उतारने का मना भी किया था।  पुलिस ने बताया कि आरोपी शिक्षिक को शुक्रवार रात आईपीसी धारा और पॉक्सो एक्ट और किशोर न्याय अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया। वहीं उपायुक्त विजया जादव ने घटना की जांच के लिए धालभूम उपमंडल अधिकारी संदीप कुमार मीणा और जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) निर्मला कुमारी की एक समिति गठित की है। अधिकारी के मुताबिक को 24 घंटे के भीतर अपनी रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है। स्कूल की प्रधानाचार्य गीता रानी महतो ने दावा किया कि लड़की परीक्षा में नकल करते हुए पकड़ी गई थी तो शिक्षिका ने जांच के लिए कपड़े उतारने को कहा था। वहीं घटना से आक्रोशित एक आदिवासी संगठन ने आरोपी शिक्षिक को तत्काल बर्खास्त करने की मांग की साथ ही छात्रा के मुफ्त और उचित इलाज की भी मांग की। छात्रा की मां ने भी घटना के बारे में बताया कि किशोरी शिक्षिका द्वारा किए गए अपमान को सहन नहीं कर सकी और उसने स्कूल से लौटने के तुरंत बाद खुद को आग लगा ली। आग से छात्रा गंभीर रूप से झुलस गई जिसके बाद परिवार के सदस्य उसको पास के अस्पताल ले गए और जहां उसका इलाज चल रहा है। - By Kalam Kartvya.

Jharkhand: छात्रा की जबरन ड्रेस उतारने के मामले में शिक्षिका पर हुई कार्रवाई, पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज
Welcome to Kalam Kartvya -
पीटीआई, जमशेदपुर Published by: Jeet Kumar Updated Sun, 16 Oct 2022 04:23 AM IST

सार

शिक्षिक को शुक्रवार रात आईपीसी धारा, पॉक्सो एक्ट और किशोर न्याय अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया। वहीं  प्रधानाचार्य ने दावा किया कि लड़की परीक्षा में नकल करते हुए पकड़ी गई थी

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : Pixabay

विज्ञापन

ख़बर सुनें

विस्तार

झारखंड में स्कूल छात्रा को ड्रेस उतारने के लिए मजबूर करने वाली शिक्षिका को गिरफ्तार किया गया है। शुक्रवार को कक्षा में अपमान के बाद छात्रा ने खुद को आग लगा ली थी। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पूर्वी सिंहभूम जिला प्रशासन ने घटना की जांच के लिए सदस्यीय समिति का गठन किया है।

'; if(typeof is_mobile !='undefined' && is_mobile()){ googletag.cmd.push(function() { googletag.display('div-gpt-ad-1514643645465-2'); }); } elImageAd.innerHTML = innerHTML; elImageAd.className ='ad-mb-app width320 hgt270 mt-10 for_premium_user_remove pwa_for_remove'; } if(showVideoAd == true){ let elImageAd = document.getElementById("showVideoAd"); elImageAd.innerHTML = '

Trending Videos

'; anyviewAd(); elImageAd.className ='clearfix ad-mb-app mt-10 for_premium_user_remove pwa_for_remove'; } function anyviewAd(){ let scriptEle = document.createElement("script"); let elImageAd = document.getElementById("showVideoAd"); scriptEle.setAttribute("src", "https://tg1.aniview.com/api/adserver/spt?AV_TAGID=631f2083311a510081136005&AV_PUBLISHERID=62d66949dc3de81859122a54"); scriptEle.setAttribute("type", "text/javascript"); scriptEle.setAttribute("async", "async"); scriptEle.setAttribute("data-content.cms-type","playlist"); scriptEle.setAttribute("data-content.cms-id","63201c80e4c07cb236059cd2"); scriptEle.setAttribute("id","AV631f2083311a510081136005"); elImageAd.appendChild(scriptEle); }

लड़की ने पुलिस को दिए एक बयान में कहा कि शिक्षिका ने उसे अपमानित किया और कक्षा के पास एक कमरे में कपड़े उतारने के लिए कहा। पुलिस के अनुसार शिक्षिका ने परीक्षा के दौरान छात्रा की वर्दी में नकल सामग्री छिपाने का संदेह व्यक्त किया था। वहीं छात्रा ने शिक्षिका से कपड़े उतारने का मना भी किया था। 

पुलिस ने बताया कि आरोपी शिक्षिक को शुक्रवार रात आईपीसी धारा और पॉक्सो एक्ट और किशोर न्याय अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया। वहीं उपायुक्त विजया जादव ने घटना की जांच के लिए धालभूम उपमंडल अधिकारी संदीप कुमार मीणा और जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) निर्मला कुमारी की एक समिति गठित की है। अधिकारी के मुताबिक को 24 घंटे के भीतर अपनी रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है।

स्कूल की प्रधानाचार्य गीता रानी महतो ने दावा किया कि लड़की परीक्षा में नकल करते हुए पकड़ी गई थी तो शिक्षिका ने जांच के लिए कपड़े उतारने को कहा था। वहीं घटना से आक्रोशित एक आदिवासी संगठन ने आरोपी शिक्षिक को तत्काल बर्खास्त करने की मांग की साथ ही छात्रा के मुफ्त और उचित इलाज की भी मांग की।

छात्रा की मां ने भी घटना के बारे में बताया कि किशोरी शिक्षिका द्वारा किए गए अपमान को सहन नहीं कर सकी और उसने स्कूल से लौटने के तुरंत बाद खुद को आग लगा ली। आग से छात्रा गंभीर रूप से झुलस गई जिसके बाद परिवार के सदस्य उसको पास के अस्पताल ले गए और जहां उसका इलाज चल रहा है।

- By Kalam Kartvya.